होम कानपुर उत्तर प्रदेश उत्तराखण्ड बिहार नई दिल्ली राजनीति मध्यप्रदेश खेल-कूंद लखनऊ संपर्क
 
  1. आजमगढ़ में पुलिस मुठभेड़, दो ईनामी बदमाशों और एक सिपाही को लगी गोली
  2.      
  3. ब्रेकिंग कल्यानपुर थाना क्षेत्र के कल्यानपुर क्रॉसिंग पर बुजुर्ग की एक्सीडेंट से मौत
  4.      
  5. आजमगढ़ जेल में कैदियों के बीच खूनी संघर्ष भारी फोर्स जेल में घुसी
  6.      
 
 
आप यहां है - होम  »  राजनीति  »  मुलायम सिंह की इस बहू को यहां से टिकट मिलना हुआ तय
 
मुलायम सिंह की इस बहू को यहां से टिकट मिलना हुआ तय
Posted By- Mahesh kumar Updated: 3/8/2019 12:05:17 PM

हरदोई. उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनावों को लेकर चल रहे सियासी दौर के बीच पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के करीबी और शुरुआती राजनीति से साथी रहे स्व : परमाई लाल की बहू पूर्व सांसद और पूर्व मंत्री ऊषा वर्मा की लोकसभा चुनाव के लिए टिकट की राह बनती नजर आ रही है। कहा जाता है कि मुलायम सिंह यादव ऊषा वर्मा को मुंहबोली बहू का दर्जा देते है। बीते दिनों जब सपा बसपा गठबंधन के एलान के बाद इस ओर अटकलों का दोर चला कि अगर हरदोई सीट बसपा के खाते मेंं गई तो फिर पूर्व सांंसद उषा वर्मा के लिए विकलप क्या होगा ? ऊषा वर्मा के सपा से टिकट को लेकर मंडरा रहे संशय के बादल छंट चुके है। खबर है कि सपा बसपा गठबंधन में हरदोई सीट सपा के पास है लिहाजा अब हरदोई सीट से पूर्व सांसद उषा वर्मा का सपा से टिकट की राह बन गई है। ऐसे में पिछले चुनाव में सपा की उषा वर्मा को हराकर लोकसभा सीट हरदोई पर काबिज सत्ता दल भाजपा के लिए प्रत्यशी चयन से लेकर टिकट के दावेदारों में सीट पर कब्जा बरकरार रखने को लेकर मुश्किलों के साथ कड़ी माथापच्ची का दौर चलने के कयास लगाए जा सकते है। स्थानीय लोग बताते है कि जब पूर्व मंत्री परमाई लाल का स्वर्गवास हो गया और उसके कुछ समय बाद उनके पुत्र का भी स्वर्गवास हो गया तो मुलायम सिंह ने अपने दोस्त के परिवार को सहारा दिया था। स्व : बाबू परमाई लाल की बहू ऊषा वर्मा को आशीर्वाद देते हुए मुलायम सिंह ने तीन बार सांसद बनवाया और एक बार अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल में प्रदेश में मंत्री भी बनाया। स्व: परमाई लाल के परिवार से नेता जी मुलायम सिंह यादव के पारिवरिक रिश्तों और क़रीबी को सदैव महसूस किया गया। जब भी प्रदेश में सपा सत्ता में आई तो इस परिवार को तब्ब्जों मिली और मुलायम सिंह सहित अखिलेश यादव इस परिवार के कमोवेश सभी परिवारिक कार्यकर्मों में शिरकत करते है। जब भी कोई चुनाव आता है तो सपा में इस परिवार के सदस्यों का टिकट और सपा में प्राथमिकता तय मानी जाती है। हरदोई और आस पास के जनपदों में पासी समाज में खासी पकड़ रखने वाले रहे पूर्व मंत्री स्व : परमाई लाल की जमीनी पकड़ और धाकड़ राजनीति के तमाम संस्मरण है। उनकी बहू उषा वर्मा तीन बार सांसद और एक बार यूपी में मंत्री रह चुकी है। ऊषा वर्मा गत लोकसभा चुनाव हार गई थी। मोदी लहर में चुनाव हारने के बाद भी ऊषा वर्मा जिले की राजनीति में सक्रिय है और लोकसभा चुनाव को लेकर सपा से प्रमुख रूप से टिकट की दावेदार है। 

Share this :
   
State News से जुड़े हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए HNS के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें
 
प्रमुख खबरे
केशव मौर्य ने भाजपा के कार्यकर्ताओं के लिए किया बड़ा ऐलान
श्रीनगर पहुंचे गृहमंत्री, जवानों से बोले- 44 के बदले 400 चाहिए
24 घंटे में पाकिस्तान को श्मशान बना देंगे जनरल रणबीर सिंह
राहुल गांधी के भाषणों की भाषा मोदी की ताकत बन रही है
CM योगी को लगेगा बड़ा झटका, कांग्रेस में शामिल हो सकता है यूपी का एक BJP विधायक
 
 
 
Copyright © 2016. all Right reserved by Live UP News 24 | Privecy policy | Disclimer Powered By :